टीचर डे शायरी हिंदी में! Teachers day shayari

गुरूदेव के श्रीचरणों में

श्रद्धा सुमन संग वंदन

जिनके कृपा नीर से

जीवन हुआ चंदन

धरती कहती, अंबर कहते

कहती यही तराना

गुरू आप ही वो पावन नूर हैं

जिनसे रौशन हुआ जमाना।।

Advertisements

पति पत्नी नॉन वेज जोक हिंदी में! 

1. पत्नी  – कल रात 3 चोर आए और मेरा रेप करके चले गए.

पति – तुमने उन्हें रोका नहीं ?
पत्नी – बहुत रोका पर वो बोले अब और ताकत नहीं है, अब कल आएंगे. 

2.  पटना की एक घटना:

मुकेश: का बे… परेसान दिख रहे हो?

सुरेश: यार बीवी परेसान कर दिहिस है, बहुत सक करती है।

मुकेश: भोसड़ी के बड़े नसीब वाले हो हमारी वाली तो Suck के नाम से ही उखड़ जाती है।

सुरेश: भक साले।

शिक्षक दिवस स्टेटस हिंदी में! 

गुमनामी के अंधेरे में था

पहचान बना दिया

दुनिया के गम से मुझे

अनजान बना दिया

उनकी ऐसी कृपा हुई

गुरू ने मुझे एक अच्छा

इंसान बना दिया

आज कल हमारी रोजाना जिंदगी मे गाली का प्रयोग इस तरह बदल गया है! 

आजकल हमारी रोज़ाना ज़िंदगी में गालियों का प्रयोग इस कदर बढ़ गया है कि अब हिंदी के वाक्य ही बदल गए हैं। 

पेश हैं कुछ उदाहरण:

1. पहले: इस काम को मत करो, रिस्क है।
आजकल: अबे बोला न रहने दे, गांड फट जाएगी।

2. पहले: अरे यार डर लगता है, कही फेल न हो जाऊं।
आजकल: यार गांड फटी पड़ी है, रिजल्ट की माँ न चुद जाये।
3. पहले: ये तो होना ही था, किस्मत ही ख़राब है।

आजकल: चुद गयी। जब किस्मत में हों लौड़े, तो कैसे मिले पकौड़े?
4. पहले: भाई गाड़ी धीरे चला, रोड ख़राब है।

आजकल: अबे सड़क की माँ चुदी पड़ी है, तू गाड़ी की क्यों चोद रहा है?
5. पहले: भाई मैंने बोला था न कि ये काम मत करो, रिस्क है।

आजकल: बस मरवा ली, मैंने तो पहले ही कहा था कि उड़ता तीर गांड में मत ले।
6. पहले: मुझे मत समझा, मुझे सब पता है।

आजकल: गांडू, बाप को चोदना मत सिखा।
7. पहले: क्या बात है भाई, उदास क्यों हो?

आजकल: क्या है बे, गांड सा मुँह क्यों बना रखा है?
8. पहले: बार बार परेशान मत कर।

आजकल: बार बार गांड में ऊँगली करना जरूरी है?
9. पहले: दोनों जिगरी दोस्त हैं।

आजकल: अबे दोनों एक गांड से हगते हैं।
10. पहले: बेटा कितना भी बड़ा हो जाये, रहेगा बाप से छोटा ही।

आजकल: आंड कितने भी बड़े हों, रहेंगे तो लण्ड के नीचे ही।
11. पहले: क्या बात है, बॉस के आगे पीछे बहुत घूम रहा है?

आजकल: क्या बात है बे, बॉस के बहुत आंड उठा रहा है?
12. पहले: किसी काम को करने के लिए, खुद में सामर्थ्य होना जरूरी है।

आजकल: गांड मरवाने का शौक हो तो तेल चटाई साथ रखनी चाहिए।
13. पहले: मूर्ख की दोस्ती अच्छी नहीं होती।

आजकल: गांडू की दोस्ती, जी का जंजाल।
14. पहले: लड़की तो मस्त है, पर तुझसे नहीं पटेगी।

आजकल: अबे रहने दे, तेरे जैसों की तो चूचों से गांड मार देती है वो।
15. पहले: तू मेरा बाल भी बांका नहीं कर पायेगा।

आजकल: तेरी गांड में जितना जोर है ना लगा ले, तू मेरी झांट का बाल भी नहीं उखाड़ सकता।

विज्ञान टीचर का नॉनवेज जोक हिंदी में! 

बच्चों मैं विज्ञान की बहुत बड़ी शिक्षक हूँ मेरे से कुछ भी पूछो।

यह सुन पप्पू ने हाथ उठा दिया और टीचर से बोला, “टीचर जब हम ऊँगली में अंगूठी पहन कर उतारते हैं तो वो जगह गोरी हो जाती है, ऐसे ही जब हम जुराब पहन कर उतारते हैं तो हमारे पैर गोरे हो जाते हैं, परन्तु जब हम चड्डी उत्तारते हैं तो हमारा लंड गोरा क्यों नहीं होता?”
टीचर ने पप्पू को मन ही मन गालियाँ दी और बोली, “बेटा वह इसीलिए क्योंकि तुम्हारा लंड हमेशा लड़कियों को बुरी नज़र से देखता रहता है।”
पप्पू ने फिर पूछा, “तो उससे हमारे लंड के काले होने का क्या ताल्लुक है?”
टीचर: भोसड़ी के, तूने कभी सुना नहीं क्या,….बुरी नज़र वाले तेरा मुंह काला।

निप्पल  मिला तो चूसना शुरू नॉनवेज जोक! 

निप्पल मिला तो चूसना शुरू,

दीवार मिली तो मूतना शुरू,
ज़ुबान फिसली तो माँ-बहन शुरू,
गांड मिली तो उंगली शुरू,
फ़ोकट की मिली तो पीना शुरू,
लंड हाथ आया तो हिलाना शुरू,
चार दोस्त मिले तो गांडमस्ती शुरू,
लड़की मिली तो चुदाई की प्लानिंग शुरू,
ऐसा मेसेज मिला तो फॉरवर्ड करना शुरू

***एक डॉक्टर पठान के पीछे ब्लेड लेकर भाग रहा था और चिल्ला रहा था, “ठहर जा बहन के लोड़े, तेरी माँ चोद दूंगा, रूक साले कमीने, एक बार हाथ लग जा तेरे को जान से मार दूँगा।”

यह सुन कर कुछ लोगो ने डॉक्टर को पकड़ा और पूछा, “भाई साहब हुआ क्या है, क्यों उसको मारने पर तुले हो?”
डॉक्टर गुस्से से बोला, “ये साला भोसड़ी का हरामी, पिछली 4 बार से ऐसा ही कर रहा है, नसबंदी करवाने आता है और झाँटे कटवा कर भाग जाता है।”

गधे गधी कै सेक्स  की गारंटी ली मेंढक ने! 

एक बार जंगल में एक गधे का सेक्स करने बड़ा का मन करता है तो वो गधी के पास जाता है। गधी उसे यह कह कर मना कर देती है कि तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और बहुत दर्द होती है। गधा उसे बहुत मनाने की कोशिश करता है, आखिरकार गधी मान जाती है पर कहती है कि जा कर कोई गारंटी ले कर आओ कि तुम अपना पूरा लंड अंदर नहीं डालोगे।

गधा गारंटी के लिए जंगल में दूसरे जानवरों के पास जाता है लेकिन कोई भी जानवर उसकी गारंटी देने को तैयार नहीं होता। आखिर में एक मेंढक को रहम आ जाता है वो गारंटी के लिए तैयार हो जाता है। मेंढक गधे से कहता है, “मैं तेरे लंड पे एक निशान लगा दूंगा तुम उससे आगे नहीं जाना। जब भी निशान से आगे जाओगे तो मैं सीटी बजा दूंगा तो तुम लंड को बाहर निकाल लेना।
गधा तैयार हो जाता है। दोनों गधी के पास जाते हैं।
गधा सैक़स करना शुरू करता है। जब भी गधे का लंड निशान से जयादा अंदर जाता मेंढक सीटी बजा देता और गधा वापस लंड बाहर निकाल लेता। जैसे-जैसे समय बीतता गया, गधे का बार-बार निशान से अंदर को जाने लगता है तो मेंढक सीटी बजाने लगता। जब गधा पूरे जोश में आ गया तो उसे मेंढक की सीटी भी नहीं सुनी तो मेंढक छलांग लगा कर गधे के लंड पर बैठ गया पर गधा कहाँ रुकने वाला था। उसने लगाया अपना फाइनल शॉट तो मेंढक ही गधी की गांड में घुस गया।
यह सब पेड़ पर बैठा एक बंदर देख रहा था। वो जोर ज़ोर से ताली बजा कर बोलने लगा, “गई गारंटी गांड में।” “गई गारंटी गांड में।”
आप ने इस कहानी से क्या सीखा: कभी भी किसी की गारंटी नहीं लेनी चाहिए नहीं तो गांड में घुसने की नौबत आ सकती है।